आम का लच्छा अचार – Grated Mango Pickle

, , Leave a comment

खड़े मसालों और आम के गूदे के लच्छों से बनाये गये इस आम के लच्छा अचार को आसानी से बना कर पूरे साल खाने में प्रयोग कर सकते हैं।

बहुत कम तेल से बने आम के इस खट्टे लच्छा अचार को बनाना जितना आसान है सफर और लंचबॉक्स के लिये यह उतना ही उपयोगी है। आम से अनेक स्वादिष्ट व्यंजन बनाये जाते हैं, झटपट बनाये गए इस अचार को आपने बाजार में छोले भटूरों या हलवाई द्वारा बनायी गई आलू की सब्जी और पूरीके साथ जरूर खाया होगा। आप भी इस टेस्टी जल्दी से बन जाने वाले आम के अचार को शुद्धता से घर पर ही आसानी से बना सकती है.

 Pickled pickles

आम का लच्छा अचार बनाने की सामग्री:-

  • कच्चे आम : 1 किलो ग्राम
  • सरसों का तेल : 150 ग्राम
  • मैथी दाना : 4 चम्मच
  • जीरा : 1 चम्मच
  • पीली सरसों के दाने : 4 चम्मच
  • हींग : ¼ चम्मच
  • हल्दी (पाउडर) : 2 चम्मच
  • लाल मिर्च (पाउडर) : 2 चम्मच
  • नमक : स्वादानुसार

आम का लच्छा अचार बनाने की विधि:-

aam ka laccha 1

सबसे पहले आप आम को साफ पानी से धोइये और उनका पानी सुखा लीजिये।

अब आप आमों को छीलिये, और छिले आम को कद्दूकस की सहायता से आम का लच्छा तैयार कीजिये।

aam ka laccha 2

आम के लच्छे को एक बर्तन में अलग रख लीजिये।

aam ka laccha 3

एक कढ़ाई या पैन में तेल गर्म कीजिये उसमें मैथी दाना और जीरा हल्का ब्राउन होने तक भून लीजिये।

भुने हुए मसाले को ठंडा कर लीजिये।

aam ka laccha 4

भुना हुआ मैथी दाना, जीरा, सरसों, हींग और नमक मिला कर सबको मिक्सी में बारीक पीस लीजिये।

aam ka laccha 5

अब एक कड़ाई में तेल गर्म करके ठंडा कर लीजिये (ऐसा करने से तेल की नमी निकल जाती है), तेल को आम के लच्छे में मिलाइए।

इस मिश्रण में सभी पिसे हुए मसाले भी चित्रानुसार डाल दीजिये।

aam ka laccha 6

सब मसालों में आम के लच्छों को किसी चमचे की सहायता से अच्छी तरह मिला लीजिये।

आपका स्वादिस्ट आम का लच्छा अचार तैयार है।

आप आम का लच्छा अचार तुरंत खा सकते हैं वरना 2 दिन बाद तो इस अचार स्वाद बहुत ही अच्छा हो जायेगा।

आप इस अचार को साफ सूखे कन्टेनर में भर कर रख दीजिये। जब भी आपका मन करे आप अचार को कन्टेनर से निकालिये और परांठे, चपाती या दाल चावल किसी के साथ परोसिये और खाइये।

.

उपयोगी सुझाब:

आम के लच्छा अचार को आप एक वर्ष तक स्टोर करके आसानी से खा सकते हैं।

अचार बनाते समय और स्टोर करने के लिये आप जो भी बर्तन का प्रयोग कर रहे हैं उन सबको सूखा होना चाहिए।

दो-तीन माह बाद अचार के डिब्बे को धूप में रख दिया करें, धूप दिखाने से अचार की सेल्फ लाइफ बढ़ जाती है।

पंद्रह दिनों के अंतराल में अचार को किसी बड़ी चम्मच की सहायता से (ऊपर-नीचे) चलाते रहें।

हमें यकीन है आपको आम का लच्छा आचार काफी पसंद आया होगा, इसी को दखते हुई हमें कुछ और अचार की विधि भी शेयर की है जैसे:

Recipe Summary:

Tags:

 

Leave a Reply

Rate Racepe!