करोंदे का अचार – Karonde ka Achar

reena gupta By Reena Gupta, On

गर्मियों के मौसम में मिलने वाले करोंदे दिखने में जितने सुंदर लगते हैं उनका खट्टा मीठा स्वाद भी उतना ही प्यारा होता है। विटामिंस और आयरन से भरपूर करोंदे का अचार भोजन के स्वाद के साथ भूख को भी बढ़ाता है।

करौंदा का अचार (karonda ka achar) साबुत करोंदों और करोंदे को काट कर दोनों तरह से बनाया जाता है। सामग्री और मसाले दोनों तरह के आचारों में एक से ही होते हैं। करोंदे के अचार को एक वर्ष तक स्टोर करके खाया जा सकता है।

करोंदे को हिन्दी में करोंदी अथवा ककरोंदा, बंगाली में करकचा, मराठी में मरवन्दी, गुजराती में करमंदी और तेलगी में बाका कहा जाता है। आयुर्वेद में करोंदे को भूख बढ़ाने वाला, पैत्तिक दस्तों को बंद करने वाला और प्यास को रोकने वाला बताया गया है।

करोंदे से अनेक स्वादिष्ट व्यंजन जैसे करोंदे की चटनी, करोंदे की सब्जी और करोंदे का जैम प्रमुख रूप से बनाये जाते हैं। आज कल कच्चे करोंदों को काट कर सलाद के रूप में भी सर्व किया जाता है और इसका जूस बना कर भी पिया जाता है।

लंच या डिनर में दाल चावल और फुल्के के साथ टेस्टी खट्टे मीठे करोंदे के अचार को सर्व कीजिये सब उंगली चाटते रह जाएंगे। बच्चों के टिफिन में सब्जी और पराठों के साथ करोंदे का अचार रखिये बच्चों को लंचबॉक्स खाली करने में देर नहीं लगेगी।

आप जरूर जानना चाहेंगे कि घर पर आसानी से karonde ka achar kaise banta hai तब हम आपको बता दें कि करौंदा का अचार डालने में ज्यादा झंझट नहीं है, यदि आपके पास आचार का मसाला तैयार है तो इसे घर पर इंस्टेंटली आप भी तैयार कर सकते है। आप इस सिम्पल रेसिपी के स्टेप्स को चित्र देखते हुए फॉलो कीजिये आप ईजिलि करोंदे के अचार को डालना, मुख्य सामग्री और आवश्यक सुझावों को सीख जाएंगे..

 Natal Plum Pickle

करोंदे का अचार बनाने की सामग्री :-

  • करोंदा (Natal Plum) – 250 ग्राम
  • सरसों का तेल (Mustard Oil) – 1/2 कप
  • हल्दी पाउडर/ पिसी हल्दी (Turmeric) – 1 चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर/ पिसी मिर्च (Red chilli ) – 1 चम्मच
  • सौंफ/संचल (Fennel Seed) – 2 चम्मच
  • मैथी दाना (Fenugreek Seed) – 1/2 चम्मच
  • पीली सरसों के दाने (Mustard Seed) – 1 चम्मच
  • नमक (Salt) – स्वादानुसार

करोंदे का अचार बनाने की विधि :-

 natal plum pickle step 1

सबसे पहले करोंदे को पानी से अच्छी तरह धोकर साफ कर लीजिये।

इसके बाद आप करोंदों को दो भागों मे काट लीजिये, ककरोंदे के बीजों को चाकू की सहायता से निकाल दीजिये।

 natal plum pickle step 2

एक बड़ा पेन लेकर नमक मिले गर्म पानी में करोंदे के पीसों को 10 मिनट भिगो दीजिये।

 natal plum pickle step 3

तय समय बाद भीगे हुए करोंदे को छलनी में पलट कर सुखा लीजिये।

 natal plum pickle step 4

सूखे साबुत मसाले सौंफ, मैथी दाना और सरसों के दानों को हल्का रोस्ट कर लीजिये इससे मसालों की नमी निकल जाएगी।

 natal plum pickle step 5

रोस्ट किये मसालों को ठंडा होने के बाद मिक्सर में दरदरा पीस लीजिये।

 natal plum pickle step 6

एक बड़ी बाउल में सूख चुके करोंदे पलट कर उनमें दरदरे किये मसालों के साथ सरसों का तेल और हल्दी पाउडर अच्छी तरह से मिला दीजिये।

 natal plum pickle step 7

आपका इंसटेंट करोंदे का अचार सर्व करने के लिये तैयार है, एक साफ और सूखे कंटेनर में अचार को स्टोर कर लीजिये।

.

उपयोगी सुझाब:

करोंदे के अचार को साल भर तक सुरक्षित रखने के लिये अचार में सरसों के तेल को गर्म करके ठंडा होने के बाद डाल दें, ध्यान रहे कि अचार तेल में डूबा रहे।

सरसों या तिल दोनों तेलों से करोंदे का अचार बनाया जा सकता है।

करोंदे के साथ कटी हरी मिर्च को मिक्स कर अचार बनाइये बहुत टेस्टी अचार बनेगा।

अन्य आचारों की तरह करोंदे के अचार को ज्यादा धूप दिखनी नहीं होती है, फिर भी अचार को सुरक्षित रखने के लिये माह में एक बार धूप जरूर लगा लें।

हमेशा खाद्य तेल को गर्म करके ठंडा होने के बाद ही अचार बनाने में प्रयोग करना चाहिये इससे तेल की अशुद्धियाँ और नमी समाप्त हो जाती है, अचार की सेल्फ लाइफ बढ़ जाती है।

नमी हर एक अचार को खराब करती है इस लिये अचार बनाने, अचार निकालने और स्टोर करने के बर्तन साफ और सूखे होने चाहिये।

अन्य स्वादिष्ट चटनी की सचित्र रेसीपीज :-

Recipe Summary:

Share Recipe!
 

One Response

  1. Subhangi

    Nice Recipe

    (5/5)
    Reply

Leave a Reply

Rate Racepe!*