आंवला पाउडर कैसे बनाएं (आंवले का चूर्ण) – Aavla Powder

reena gupta By Reena Gupta, On

आंवला पाउडर या आंवले का चूर्ण हमारे स्वास्थ के लिये बहुत लाभदायक औषधि है। इस Aavla Powder Recipe में हमने स्टेप बाई स्टेप चित्रों सहित स्वच्छता और शुद्धता के साथ इसको बनाने का तरीका आपके साथ साझा किया है।

वैसे तो आजकल बाजार में आंवले के सभी उत्पाद उपलब्ध हैं पर क्यूंकी हम आंवले के पाउडर का उपयोग अनेक रूप में एक औषधि की तरह करते हैं इस लिये घर पर बने आंवले के पाउडर कि शुद्धता 100% निसंदेह होती है, इसको बनाना भी बहुत आसान है।

अनेक पौषक तत्व, विटामिन-सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर आंवला पाउडर (Aavla Churn) का उपयोग कई तरह से घरेलू दवा के रूप में किया जाता है। इसके पाउडर को शहद में मिला कर अगर नियमित सेवन किया जाये तब पेट संबंधी कोई भी रोग हमारे पास नहीं फटकता और पाचन हमेशा अच्छा रहता है।

लंबे काले और घने बालों के लिये आंवला पाउडर एक रामबाण औषधि है। दादी माँ द्वारा बताये आंवले के चूर्ण के कुछ उपयोगों को हमने इस पोस्ट के उपयोगी टिप्स में विस्तार से बताया है।

आंवला पाउडर बनाने के लिये केवल ताजे और साफ आंवलों की ही आवश्यकता होती है, आंवले को सुखाने के लिये प्लेट और पीसने के लिये मिक्सर ग्राइन्डर रसोई में हमेशा उपलब्ध रहता है, तब देर किस बात कि आइये जानते हैं आंवले का चूर्ण (Gooseberry powder) बनाने का तरीका और उपयोग…..

Aavla Powder

आंवला पाउडर बनाने की सामग्री:

  • आँवला (Indian Gooseberry) – 500 ग्राम
  • भगोना या गहरा पैन (Deep Pan) – आंबले उबालने के लिये
  • थाली (Plain Steel Plate) – आंवला सुखाने के लिये
  • मिक्सर ग्राइन्डर (Mixer Grinder) – सूखे आंवलों को पीसने के लिये
  • सूती कपड़ा या बारीक छलनी (Sieve) – आंवले का चूर्ण छानने के लिये

आंवला पाउडर बनाने की विधि

Aavla Powder Making Step 1

आंवला पाउडर बनाने के लिये सबसे पहले ताजे और दाग रहित आंवलो को पानी से अच्छे से धो लीजिये।

एक गहरे बर्तन में पानी के साथ आंवलों को चित्रानुसार मुलायम होने तक उबाल लीजिये।

Aavla Powder Making Step 2

उबले हुए आंवलो को ठंडा होने के बाद चित्रानुसार काट कर उनकी फाँकों को अलग कर दीजिये, और इनकी गुठलियों को अलग करके फैंक दीजिये।

Aavla Powder Making Step 3

आँवले की फांको को किसी सूती कपड़े या प्लास्टिक शीट पर फैलाकर धूप में सूखने के लिए रखिये, इनको अच्छी तरह से सूखने में लगभग आठ-दस दिन लगते हैं।

Aavla Powder Making Step 4

आप देखेंगे कि सूखे हुए आंवलों के टुकड़े रंग बदल कर ब्राउन रंग के होने लगे हैं।

Aavla Powder Making Step 5

जब आंवलों के पीस अच्छे से सूख जायें तब उनको एक स्टील की प्लेट में पलट कर एक दिन धूप में सुखाइए क्योंकि स्टील का बर्तन धूप में जल्दी और ज्यादा गर्म हो जाता है इससे आंवले अच्छी तरह से सूख जायेंगे।

सूखे हुए आंवलों को छोटे-छोटे पीसों में कूट लीजिये।

Aavla Powder Making Step 6

चित्रानुसार कुटे हुए आंवले के टुकड़ों को मिक्सर ग्राइन्डर की मदद से बारीक पीस लीजिये।

Aavla Powder Making Step 7

सूती कपड़े या बारीक छेदों वाली छलनी की सहायता से आंवले के पाउडर को छान लीजिये।

Aavla Powder Making Step 8

छानने के बाद कपड़े या छलनी में जो मोटा-मोटा आंवला पाउडर रह जायेगा उसको दोबारा मिक्सी में डालकर पीसिये और इसी तरह से छान लीजिये।

Aavla Powder Making Step 9

आपका 100% शुद्ध आंवले का चूर्ण तैयार है, इसको एयर टाइट डिब्बे में भरकर स्टोर कीजिये और इस अनमोल औषधी को आवश्यकता के अनुसार यूज कीजिये।

आंवला पाउडर में आंवले के सभी गुण मौजूद रहते हैं पर इसका उपयोग और स्टोरेज आसान है।

.

आंवला पाउडर बनाने और उपयोग करने के टिप्स :-

आइये जानते हैं कुछ ऐसे सुझाव जो की आंवला चूर्ण को स्टोर करने और दैनिक इस्तेमाल निश्चित ही आपको उपयोगी लगेंगे….

चूर्ण के लिये आंवले तैयार करना :-

आप सुविधानुसार आंवलो को कच्चा काटकर या कद्दूकस करके फिर इसी तरह सुखा कर भी आंवला चूरन बना सकते हैं लेकिन उबालकर बनाने से आंवलों की अशुद्धियाँ समाप्त हो जाती हैं जिससे पाउडर की सेल्फ लाइफ बढ़ जाती है और फाँकें भी आसानी से अलग हो जाती हैं।

आंवलों को सुखाना :-

रोजाना फैलाते समय आंवलो के टुकड़ों को एक बार हाथ से थोड़ा उलट-पलट दीजिये। मिट्टी व मक्खियों से बचाने के लिए बारीक़ कपड़े से ढक दीजिये। आंवला सूखने के बाद बहुत ही कड़क हो जाता है इसीलिए मिक्सर में पीसने से पहले इनको इमाम दस्ते में कूट कर दरदरा कर लीजिये अन्यथा मिक्सी की ब्लेड टूट सकती हैं।

आंवले का पाउडर को स्टोर करना :-

आंवला पाउडर को स्टोर करने के लिये पहले पिसे हुए पाउडर को कमरे के तापमान पर ठंडा कीजिये, फिर उसको एक साफ और सूखे एयर-टाइट डिब्बे में भर कर फ्रिज में स्टोर कीजिये। आंवले में हल्का एंटी वैक्टीरियल (जीवाणुरोधी) प्रभाव होता है जिससे अगर इसको सूखी और ठंडी जगह में स्टोर किया जाये तब यह लंबे समय तक ठीक रह सकता है।

आंवले का पाउडर कैसे इस्तेमाल करें?

आंवला चूर्ण कब और कैसे खाना चाहिए?

एक चम्मच आंवला पाउडर सुबह खाली पेट एक चम्मच शहद में मिला कर खाइये और ऊपर से गुनगुना पानी पी लीजिये।

आंवला प्राकृतिक लैग्जेटिव का काम करता है और यह शरीर से हानिकारक विषाक्त पदार्थों को निकालता है जिससे हमारी पाचन क्रिया बेहतर होती है और कब्ज एवं एसिडिटी कि शिकायत नहीं रहती। च्यवनप्राश की मुख्य सामग्री आंवला ही है।

चेहरे के दाग धब्बे साफ करना :-

एक चम्मच आंवला चूर्ण को रोजाना पानी के साथ सेवन कीजिये इससे चेहरे की कांति बनी रहती है और चेहरे के दाग धब्बे दूर होते हैं।

एक कांच के गिलास में पानी भरिये और उसमें दो चम्मच आँवला पाउडर रात को भिगो कर रख दीजिये, सुबह को इस पानी से चेहरा धो लीजिये। ऐसा नियमित रूप से करने से चेहरे की झुर्रिया और झाइयां निश्चित रूप से ठीक हो जाती हैं।

आंवले का तेल या कंडीशनर बनाना :-

एक पैन में एक कप तिल या नारियल का तेल गर्म कीजिये और इसमें दो या तीन चम्मच आंवला पाउडर मिला कर ब्राउन होने तक लगातार चलाते हुए पकाइये। ठंडा होने के बाद इसको छान कर स्टोर कर लीजिये। तैयार तेल को अपने बालों में (स्कैल्प पर) लगाने के लिए इस्तेमाल कीजिये।

आंवला पाउडर बालों में कैसे लगाएं :-

1 चम्‍मच आंवला पाउडर, 1 चम्मच मेहंदी पाउडर, 1 चम्‍मच नींबू का रस और 1 चम्‍मच दही अच्छे से मिक्स करके पेस्ट बना लीजिये। इस मिश्रण को बालों में अच्छे से लगा कर सिर को एक घंटे पेस्ट लगा ही रहने दीजिये, तय समय के बाद बालों को ताजे पानी से धो लीजिये। इस प्रयोग से बाल लंबे घने और मजबूत हो जायेंगे। जल्दी से सफेद भी नहीं होंगे।

अन्य उपयोगी कुकिंग टिप्स :-

Recipe Summary:

Share Recipe!
 

One Response

  1. रीता जोशी, ऋषिकेश

    बहुत शानदार रेसिपी, आपने सारी शंकाओं का निवारण कर दिया, धन्यबाद!!

    (5/5)
    Reply

Leave a Reply

Rate Racepe!*