डोसा का बैटर (घोल) बनाने की विधि – इडली का घोल बनाने की विधि

reena gupta By Reena Gupta, On

डोसा का बैटर और इडली का घोल अगर ठीक बना हो तब मुलायम फूली फूली इडली और पतला छिद्रों से भरा डोसा आसानी से बनाया जा सकता है। इस आजमायी हुई इडली डोसा का बैटर रेसिपी में दिए गये चित्रों और स्टेप्स को फॉलो करके आप शुद्धता के साथ परफेक्ट घोल बहुत आसानी से निश्चित ही बना लेंगे।

परफेक्ट इडली के घोल से मुलायम इडली के अतिरिक्त पेपर डोसा, मसाला डोसा, उत्तपम और अप्पे बनाए जा सकते हैं। एक बार तैयार डोसे/ इडली के घोल को फ्रिज में स्टोर करके दो-तीन दिन तक उपयोग में ला सकते हैं। हमने मोटी और सॉफ्ट इडली बनाने के लिये घोल को गाढ़ा बनाया है जिसको आवश्यकतानुसार पानी से पतला करके पतले डोसे बनाये जा सकते है।

मुख्य सामग्री चावल और उड़द की धुली दाल के अतिरिक्त इसमें मैथी को बैटर में जल्दी खमीर उठाने के लिए और पोहे को अच्छा रंग एवं क्रिस्पी स्वाद के लिये मिक्स किया है।

उत्तम डोसे अथवा इडली का घोल बनाने के लिए बैटर रेसिपी में दी गई सामग्री को सही मात्रा में लीजिए, उपयोगी सुझावों पर गौर कीजिए आप बहुत आसानी से घर पर परफेक्ट इडली डोसा का घोल बना लेंगे।

शुद्धता कुछ कीमत तो लेती ही है, अगर आप रेडीमेड डोसा बैटर की जगह घर में कुछ समय इडली डोसे का घोल बनाने में खर्च कर देंगी तब परिवार को स्वाद के साथ शुद्धता के साथ स्वास्थ भी दे पाएंगी, सच मानिए इस दक्षिण भारतीय स्टाइल में इसको बनाना बहुत आसान है…

 dose idli ka ghol

डोसे इडली का घोल बनाने की सामग्री:-

  • चावल – 3 कप
  • उरद दाल (धुली हुई, बिना छिलके वाली) – 1 कप
  • पोहा – 1/2 कप
  • मैथी दाना – 1/2 चम्मच
  • चना दाल – 2 चम्मच
  • बेसन – 2 चम्मच
  • चीनी – 1 चम्मच
  • नमक – 1 चम्मच

डोसे इडली का घोल बनाने की विधि:-

 dose idli ka ghol 1

01:-डोसा या इडली का घोल बनाने के लिये सबसे पहले सभी समिग्री को सही मात्रा (अनुपात) में एकत्रित करके एक बड़ी बाउल में चावल और मैथी दाने को धो कर पानी में भीगने रख दीजिये। अब आप एक दूसरी बाउल लीजिये उसमे उरद दाल, चने की दाल और पोहे को पानी में भिगोने रख दीजिये। दोनों को फूलने में लगभग 6-7 घंटों का समय लगेगा।

 dose idli ka ghol 2

02:- तय समय बाद जब भीगे हुए चावल और दाल फूल कर तैयार हो जाएँ, तब छलनी की सहायता से चावल और दाल का एक्स्ट्रा पानी निकाल दीजिये।

 dose idli ka ghol 3

03:- अब सबसे पहले हम चावल का पेस्ट तैयार करेंगे इसके लिए भीगे हुए चावलों को मिक्सी के जार में भर कर ब्लैंड (पीस) कीजिये।

 dose idli ka ghol 4

04:- ध्यान रखें! बहुत थोड़ा सा पानी डाल कर एक गाढ़ा पेस्ट तैयार करना है, चावल का पेस्ट थोड़ा दाने दार बनाना है। (दरदरा करने के लिए ज्यादा पानी का प्रयोग नहीं करना है) अब इस पेस्ट को एक अलग बाउल में निकाल लीजिये।

 dose idli ka ghol 5

05:- इसी तरह भीगी हुई दाल और पोहा को मिक्सी के जार में भर कर थोड़ा पानी मिलाते हुए ब्लाइंड कीजिये, दाल का पेस्ट एक दम चिकना और मुलायम बनेगा।

 dose idli ka ghol 6

06:- अब आपके दोनों पेस्ट बन कर तैयार हैं। इनको एक बड़े बर्तन में मिला कर अच्छी तरह फेंट लीजिये और एक बड़े एयर-टाइट डिब्बे में भर कर फूलने के लिए रख दें। (गर्मियों में लगभग 6-7 घंटे और सर्दियों में 10-12 घंटे का समय इडली डोसे के बैटर को तैयार होने में लगेगा) इस डिब्बे को आप किसी गर्म जगह में ढक कर रखिये।

 dose idli ka ghol 7

07:- दस-बारह घंटो के बाद तैयार इडली डोसे के बैटर में आपको बुल-बुले दिखाई देंगे, और बैटर फूल कर दुगना हो जाएगा। अगर आपको इडली बनानी है तब आप इसमें थोड़ा नमक डाल कर बिना पानी के फैंट कर इडली तैयार कर लीजिये।

 dose idli ka ghol 8

08:- डोसा बनाने के लिए इस बैटर में नमक, बेसन, चीनी और थोड़ा सा पानी डाल कर अच्छे से मिलाइये इस तरह डोसा बनाने का घोल तैयार हो जायेगा। इस बैटर से स्वादिष्ट डोसे बना लीजिये।

 dose idli ka ghol 9

09:- आपका डोसे का घोल तैयार है! गैस ऑन करें, गैस पर नॉन स्टिक का तवा रखें, गर्म तवे को गीले कपड़े से पोंछे और एक चम्मच से डोसे के घोल को गरम तवे पर डाल कर फैलाएं, डोसे को थोड़ा तेल लगते हुए सेकें, सांभर और गोले की चटनी के साथ सर्व करें।

 dose idli ka ghol 10

10:-तैयार बैटर को आप फ्रिज में सात दिनों तक स्टोर करके रख सकते हैं और इस बीच जब इच्छा हो तब इसी घोल से उत्तपम, इडली और डोसा फटाफट तैयार कर सकते हैं।

.

उपयोगी सुझाब:

आइये जानते हैं कुछ ऐसे सुझाव जो की इडली और डोसे के बैटर को बनाने और स्टोर करने में निश्चित ही आपको उपयोगी लगेंगे….

घोल (बैटर) बनाने सम्बन्धी सुझाव :-

इडली बैटर को मिक्सर ग्राइंडर में एक या दो बार में पीसिये जिससे मिक्सी पर ज्यादा लोड न पड़े। चावल और उड़द दाल को अलग-अलग पीस कर बाद में भी मिला सकते हैं।

बैटर को किण्वित करने के बाद आवश्यकतानुसार ही फ्रिज से निकालिए, नहीं तो बैटर जल्दी खट्टा हो जायेगा।

सर्दी के मौसम में यदि डोसे बैटर का खमीर नहीं उठ रहा है, तब आप बेटर बाले डिब्बे को गर्म पानी में रखें, बेटर जल्दी फूल जायेगा।

डोसे का मिश्रण 4-5 दिन पुराना है, तब बर्तन को बिना हिलाये बेटर के ऊपर का पानी उतार दें और इसमें ताजा पानी मिला लें मिश्रण ताजा हो जाएगा।

बैटर को स्टोर करने एवं इडली डोसा बनाने सम्बन्धी सुझाव :-

दक्षिण भारतीय घरों में हर सप्ताह एक या दो बार इडली-डोसे का बैटर बनाया जाता है। यदि आप इडली बैटर को फ्रिज में अधिक समय के लिए स्टोर करते हैं, तब यह ज्यादा खट्टा हो सकता है।

सॉफ्ट इडली बनाने के लिए चावल को तब तक पीसें जब तक कि यह चिकना न हो जाए, इससे इडली बनते समय फटेगी नहीं।

डोसे को कुरकुरा बनाने के लिए डोसे सेकने से लगभग 20 मिनट पहले बेटर में थोड़ी सूजी (रवा) डाल कर मिक्स कर लीजिये बहुत टेस्टी डोसे बनेंगे।

इसी तैयार डोसा-इडली के बैटर से स्वादिष्ट मसाला डोसा, उत्तपम और अप्पे बनाये जा सकते हैं।

घर पर बने शुद्ध बैटर को आप 7 दिनों तक फ्रिज में स्टोर कर सकती हैं। जबकि बाज़ार बाला घोल जल्दी खराब हो जाता है।

अन्य उपयोगी स्टेप्स सहित सचित्र रेसीपीज :-

Recipe Summary:

Share Recipe!
 

One Response

  1. Avatar ज्योति लूथरा

    बहुत शानदार, रेसिपी में दिए गए चित्र और स्टेप्स से बेटर बनाना सरलता से समझ आया।

    (5/5)
    Reply

Leave a Reply

Rate Racepe!*