आंवले का मुरब्बा बनाने की विधि – Amla Murabba Recipe

, , 1 Comment

अचार या चटनी की जगह आप खट्टे-मीठे आंवले के मुरब्बे को भोजन के साथ सर्व करें जिस्से स्वाद के साथ सभी की इम्युनिटी भी बढ़ेगी।

सामान्यतः जाड़ों के मौसम में ताजे और बढ़िया आमले बाजार में आसानी से मिल जाते हैं। प्राकृतिक गुणों से भरपूर आंवला में विटामिन C और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। आमले से अनेक स्वादिष्ट व्यंजन जैसे आंवला का अचार, आमले की कैंडी, आमले का जैम इत्यादि बनाया जाता है। आज हम आमलों से खट्टा-मीठा मुरब्बा बनायेगे जो की गर्मियों में शरीर की इम्युनिटी को बहुत बढ़ाता है।  murabba amle ka

आंवले का मुरब्बा बनाने की सामग्री:-

  • फ्रेश आंबले – 1 किलो
  • पिसी चीनी – 1.5 किलो
  • फिटकरी का पाउडर – 1/2 चम्मच

आंवले का मुरब्बा बनाने की विधि:-

 murabba amle ka lable 1

01:- सबसे पहले ताज़ा फ्रेश आंबला ले, और उन्हें सादा पानी में भीगने के लिए दो दिन तक ढक कर रख दे।

 murabba amle ka lable 2

02:- दो दिन बाद छलनी की सहायता से सभी आंवला का सारा पानी निकाल दे।

 murabba amle ka lable 3

03:- पानी निकालने के बाद सारे आंबले को चाकू या किसी काँटे की सहायता से चारो तरफ से गोद ले यदि किसी आंबले में काला निशान है तो उसे चाकू से काट कर हटा दे।

 murabba amle ka lable 4

04:- अब सभी गुदे हुए आंबला में आधा चम्मच फिटकरी का पाउडर डाल कर मिलाये।

 murabba amle ka lable 5

05:- और दुबारा से आंबालो में पानी भर कर ढक दे।

 murabba amle ka lable 6

06:- फिटकरी बाले पानी में भी आंबलो को दो दिन तक भीगने दे।

 murabba amle ka lable 7

07:- दो दिन बाद फिटकरी बाला पानी निकाल कर आंबलो को सादा पानी में अच्छे तरह से धो ले।

 murabba amle ka lable 8

08:- सभी आंवला को 2 मिनट तक गर्म पानी में रखने के बाद छलनी से छान ले। और खुली हवा में 10 मिनट के लिए फैला दे (जिससे आंबलो के ऊपर का पानी सूख जाये ऐसा करने से आंबले के मुरब्बे में फफूंद नही लगती है।)

 murabba amle ka lable 9

09:- अब सभी आंबले को साफ़ और सूखे बर्तन में निकाल ले और इनमें पिसी चीनी डाल कर अच्छी तरह से मिला दे।

 murabba amle ka lable 10

10:- चीनी में मिक्स आंबलो को 6-7 घंटे के लिए ढक कर रख दे, जिससे आंबलो में चीनी का जूस तैयार हो जाये।

 murabba amle ka lable 11

11:- 6 घंटे के बाद आप देखेंगे कि आंबलो में चीनी घुल चुकी है अब आप गैस ऑन करके आंबलो को रखे और चीनी गाढ़ी होने तक लगातार चलाये हुए पकाये।

 murabba amle ka lable 12

12:- सभी आंवला को पकाते समय चेक करे यदि आपकी एक तार की चाशनी तैयार हो गयी है। तब आपका आंबला का मुरब्बा तैयार है। अब गैस बंद कर दे। (ध्यान रहे कि आंबले का मुरब्बा लोहे के बर्तन में न पकाये जिससे मुरब्बा काला पड़ जाता है। आप स्टील या एल्युमीनियम के बर्तन में ही पकाये।)

 murabba amle ka lable 13

13:- अब आंबले के मुरब्बे को ठंडा होने दे, फिर साफ़ और सूखे शीशे के जार में भर कर रखे यह कम से कम एक 1साल तक ख़राब नही होगा।

. .

उपयोगी सुझाब:

नवम्बर -दिसम्बर माह में मुरब्बे के लिए बहुत अच्छे आंवले बाज़ार में आसानी से मिल जाते हैं।

बड़े आकार का हल्का पीले रंग का आंवला कम कसेला होता है जिसका मुरब्बा बहुत स्वादिष्ट बनता है।

आंवले को पानी में ध्यान से थोड़ी देर तक ही पकाएं जिससे वह टूटेंगे नहीं।

अगर तय समय बाद भी चीनी आवलों में शहद की तरह न चिपट रही हो तब मुरब्बे को स्टील के बर्तन में थोड़ी देर पका लें, मुरब्बा देखने और खाने में बहुत स्वादिष्ट हो जाएगा।

अगर चाशनी बहुत ज्यादा गाढ़ी हो गई हो तब दो चम्मच पानी उबाल कर मुरब्बे में मिला लें मुरब्बा ठीक हो जायेगा।

जिन भी बर्तनों में आप मुरब्बा बनायें या जिस भी चम्मच से आप मुरब्बा निकालें उन सब का सूखा होना जरूरी है क्योंकि पानी के संपर्क में आने से मुरब्बा खराब हो जाया करता है।

मुरब्बे को हमेशा कांच या चीनी मिट्टी के कंटेनर में स्टोर करना अच्छा रहता है वैसे आप अच्छे प्लास्टिक के साफ़ डिब्बे में भी मुरब्बे को स्टोर कर सकते हैं।

Recipe Summary:

 

One Response

  1. Rekha Goel

    नाइस रेसिपी रियली वेरी यूजफुल थैंक्स ए लॉट

    (5/5)
    Reply

Leave a Reply

Rate Racepe!*