उड़द दाल की खिचड़ी – Makar Sankranti Khichdi Recipe

, , Leave a comment

मकर संक्रांति और गंगा स्नान के पावन अवसर पर पूरे उत्तर भारत मे उड़द दाल और चावल से बनी खिचड़ी को आम के अचार और दही के साथ खाया जाता है।

उड़द की काली दाल और चावल के साथ बनी होने के कारण इसको काली दाल की खिचड़ी भी कहा जाता है। हिमांचल प्रदेश में सबूत उड़द के साथ हिमांचली खिचड़ी और बंगाल में उड़द की धुली दाल के साथ बंगाली खिचड़ी बनायी जाती है। मकर संक्रांति के अवसर पर मंदिरों और पुजारियों को तिल, गुड़ और काली उरद दाल चावल की कच्ची खिचड़ी दान करना शुभ माना जाता है।

काली उड़द दाल की खिचड़ी को बहुत आसानी से बनाने की रेसपी आपके साथ साझा कर रहे हैं, हर मकर संक्रांति और गंगा स्नान के मौके पर हमने भी मूली, दही और अचार के साथ इसका आनंद लिया है..

Urad Dal ki Khichdi

उड़द दाल की खिचड़ी बनाने की सामग्री:-

  • उड़द की छिलके वाली काली दाल – 1 कप
  • बासमती चावल- 2 कप
  • जीरा – 1/2 चम्मच
  • हींग – 1 चुटकी
  • लाल मिर्च (पाउडर) – स्वादानुसार
  • हल्दी (पाउडर) – 1/2 चम्मच
  • हरी मिर्च (कटी हुई) – 1
  • शुद्ध देसी घी – 2 चम्मच
  • नमक – स्वादानुसार

उड़द दाल की खिचड़ी बनाने की विधि:-

 urad dal khichri step 1

सबसे पहले उड़द की दाल और चावल को बीन कर साफ़ करिए, और अच्छे से धो कर दोनों को मिक्स कर लीजिये।

 urad dal khichri step 2

कुकर में शुद्ध देशी घी डाल कर गर्म करें उसमे जीरा, हींग और लाल मिर्च पाउडर भून कर तड़का तैयार कीजिये।

 urad dal khichri step 3

तैयार तड़के में पानी मिलाइए और इसमें धुले हुए दाल चावल पलट दीजिये।

 urad dal khichri step 4

कुकर में हल्दी, नमक और हरी मिर्च डाल कर अच्छे से मिक्स कर दीजिये।

 urad dal khichri step 5

कुकर का ढक्कन लगाइए और एक सिटी आने तक खिचड़ी पका लीजिये।

 urad dal khichri step 6

कुकर का प्रेशर खत्म होने के बाद ढक्कन खोलिए और हल्के हाथ से खिचड़ी को कलछी की सहायता से चला लीजिये।

स्वादिष्ट उड़द दाल की खिचड़ी तैयार हैं, सर्विनग प्लेट में निकालिये ऊपर से शुद्ध घी डालिये और अचार, पापड़ दही के साथ सर्व कीजिये।

.

उपयोगी सुझाब:

खिचड़ी मे पानी की मात्रा आप अपने हिसाब से बढ़ा- घटा सकते है, यदि आप खिचड़ी पतली खाना पसंद करते है तो पानी थोड़ा ज्यादा डालें।

आप स्वादानुसार खड़े मसाले जैसे लौंग, बड़ी इलाइची, तेज़ पत्ता भी भून कर तड़का तैयार कर सकते हैं ऐसा करने से आपकी उड़द दाल की खिचड़ी और भी स्वादिष्ट बनेगी।

उड़द की दाल की खिचड़ी के फायदे:-

उड़द दाल की खिचड़ी में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

काली उरद दाल में फाइबर अधिक होने के कारण मधुमेह रोगी के लिये यह सम्पूर्ण पोस्टिक सुपर फूड है।

उड़द की काली दाल खून में इंसुलिन ओर ग्लूकोज को संतुलित रखने में मदद करती है।

उड़द दाल की खिचड़ी में भरपूर मात्रा में फोलेट और मैग्नीशियम पाया जाता है जो की धमनियों को ब्‍लॉक होने से बचाती है।

मैग्नीशियम दिल को स्वस्थ रखने में सहायक है क्‍योंकि यह ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ावा देता है।

महावारी से आयरन की कमी हो जाती है उड़द की दाल की खिचड़ी आयरन का बेहतरीन स्रोत है इसे खाने से शरीर को ताकत भी मिलती है।

Recipe Summary:-

 

Leave a Reply

Rate Racepe!*