उड़द दाल कचौड़ी बनाने की विधि – Urad Dal Kachori

, , Leave a comment

जब पूरी की लोई में कुछ भर कर बेला जाता है जैसे उड़द की दाल, आलू या मटर तब जो पूरी तैयार होती है उसे कचोरी कहते हैं। जहाँ उत्तर भारत में उरद की दाल की कचौड़ी और आलू की कचौड़ी अधिक लोकप्रिय हैं, वहीं बंगाल में मटर की कचौड़ी बहुत लोकप्रिय हैं..

 Daal ki kchodi

कचौड़ी बनाने की सामग्री:-

    – सामग्री आटा गूथने के लिए –
  • गेंहू का आटा – 1 कप
  • नमक – स्वादानुसार
  • आटा गूँथने के लिए पानी – लगभग ½ कप
  • खाद्य तेल – 2 चम्मच
  • – पिट्ठी या भरावन की सामिग्री –
  • उड़द दाल – ¼ कप
  • जीरा – ¼ चम्मच
  • अदरक – ½ इंच का टुकड़ा
  • हरी मिर्च – 1
  • हींग – 2 चुटकी
  • नमक – स्वादानुसार
  • लाल मिर्च (पाउडर) – ½ चम्मच
  • धनिया (पाउडर) – 1 चम्मच
  • गरम मसाला (पाउडर) – ½ चम्मच
  • सौंफ (कूटी) – 2 चम्मच
  • खाद्य तेल – तलने के लिए

कचौड़ी बनाने का तरीका :-

उड़द दाल को बीनकर, धो लें। अब इन्हे 3 कप पानी में 3-4 घंटे के लिए भिगो दें।

हरी मिर्च का डंठल हटा कर उसे धो लें। अदरक का छिलका हटा कर उसे मोटा मोटा काट लें।

भीगी हुई उड़द दाल का पानी हटाकर उसे हरी मिर्च और अदरक के साथ पीस लें। (कचौड़ी के लिए बहुत बारीक दाल ना पीसें)

अब एक नॉन स्टिक कड़ाही में तेल गरम करें। जब तेल गरम हो जाए तो इसमें जीरा तड़काएँ, हींग और मेथी पाउडर डालकर कुछ सेकेंड्स भूनें।

पिसी दाल और नमक को छोड़कर बाकी सभी मसाले डालें, सभी सामग्री को अच्छे से मिलाएँ।

अब बराबर चलाते हुए दाल को 8-10 मिनट तक मध्यम आँच पर भूने। इसके बाद आँच को बंद कर दीजिए।

भुनी दाल तो थोड़ा ठंडा होने दीजिए। जब दाल गुनगुनी हो तब उसमें नमक डालिए और अच्छे से मिलाइए।

(गरम दाल में नमक मिलने से नमक पानी छोड़ सकता है और फिर दाल को भर कर बेलने में परेशानी होती)

– आटा गूथने के लिए –

एक कटोरे में आटा, नमक, और तेल लें, इसमें थोड़ा-थोड़ा पानी मिलते हुए नरम आटा गूथ लें।

आटे में अच्छे से लोच देने के लिए आटा गुथ जाने के बाद भी उसे थोड़ी देर अच्छे से मलें। गुथे आटे को 10 मिनट के लिए ढककर रख दें।

अब गूँथे आटे को बराबर हिस्से में बाँटे और तेल/ घी की मदद से लोई को चिकना करें।

एक लोई लें इसे २ इंच के गोले में बेलें। बिली लोई के बीच में १ छोटा चम्मच दाल की भरावन रखें।

किनारों को पास लाते हुए लोई को आहिस्ता से बंद करें। तेल/ घी की मदद से 3 इंच की कचौड़ी बेलें। इसी प्रकार सभी कचौड़ियों को बेल लें।

अब एक कड़ाही में घी/ तेल गरम करें, अब इसमें कचौड़ी डालें और हल्के से छेद वाली कल्छी से दबाएँ, कचौड़ी फूल जाएगी।

अब कचौड़ी को दोनों तरफ से सुनहरा होने तक तलें। एक कचौड़ी को तलने में लगभग 35-40 सेकेंड्स का समय लगता है, (आप चाहें तो एक साथ 3-4 कचौड़ियाँ भी तल सकते हैं)

उपयोगी सुझाब:

तली कचौड़ी को किचन पेपर पर निकाल लें। बाकी कचौड़ियों को भी इसी प्रकार से तल लें।

स्वादिष्ट करारी कचौड़ियों को किसी भी करी या फिर सूखी सब्जी के साथ परोसें।

भारतीय परिवारों में इसे खट्टे-मीठे काशीफल (कद्दू) और आलू टमाटर के रसे के साथ परोसने का चलन है।

Recipe Summary:

 

Leave a Reply

Rate Racepe!*