नमकीन मठरी (मट्ठी) – मैदा की मठरी – Mathri Banane ki Vidhi

reena gupta By Reena Gupta, On

नमकीन मठरी उत्तर भारत का एक लोकप्रिय नाश्ता (स्नेक) है। मठरी (मट्ठी) चाय के साथ सर्व करने के लिये बिस्कुटस का अच्छा विकल्प है। मैदा की मठरी को विवाह के पकवान या करवा चौथ, तीज और त्योहार पर तो अवश्य ही बनाया जाता है।

मठरी को मट्ठी, मिठरी और मठी भी बोला जाता है। मठरी मैदा और गेहूँ के आटे दोनों से बनाई जाती है। आप अपने स्वादानुसार मैदा में अजवायन, मैथी, अचार का मसाला या काली मिर्च मिक्स कर इनको अनेक स्वादों में बना सकते हैं। कुछ जगह पर मैदा में सूजी या बेसन मिला कर भी मठरी बनाई जाती हैं जिनका स्वाद भी बहुत क्लासिक होता है।

सभी अपनी-अपनी पसंदनुसार अनेक आकारों में मठरी (मट्ठी) बनाते हैं इनमें गोल, तिकोनी या समोसे जैसे आकार बाली मठरी ज्यादा प्रचलित हैं। मठरी की सेल्फ लाइफ अधिक होती है एयर-टाइट डिब्बे में मठरी को सामान्य तापमान में एक माह तक स्टोर करके खा सकते हैं।

सफर की साथी नमकीन मठरी रेसिपी में हमने आपके साथ ईजी स्टेप्स को अनेक चित्रों सहित शेयर किया है जिनको फॉलो करके आप मठरी बनाने की विधि आसानी से जान जायेंगे। साथ ही साथ उपयोगी सुझावों में अनेक स्वाद की मठरी बनाने का तरीका और आवश्यक सामग्री को साझा किया है आइये जानें…..

 Namkeen Mathri

नमकीन मठरी बनाने की सामग्री:-

  • मैदा (Fine Wheat Flour) – 4 कप
  • शुद्ध घी / देसी घी, पिघला हुआ (Desi Ghee) – 1 कप
  • अज़वाइन (Thymol/Carom Seed) – 1 चम्मच
  • कसूरी मैथी / मेथी पत्ता (Fenugreek Leaf) – 2 चम्मच
  • बेकिंग सोडा पाउडर (Baking Powder) – 1 चुटकी
  • रिफाइंड ऑइल (Cooking Oil ) – मठरी (मट्ठी) तलने के लिए

नमकीन मठरी बनाने का तरीका :-

namkeen mathri step 1

सबसे पहले एक बड़े बर्तन में मैदा, घी, अजवायन, कसूरी मैथी और बेकिंग पाउडर को अच्छी तरह मिला लीजिये।

(ध्यान रहे इस मिश्रण को हाथ में ले कर चेक करें कि यह लड्डू सा बनने लगे तब जानिये कि मोमन ठीक है बरना आटे में थोड़ा पिघला हुआ घी और डाल कर दोबारा से मिक्स कर लीजिये।)

namkeen mathri step 2

अब इस मिश्रण में धीरे -धीरे पानी या दूध मिला कर उसकी सहायता से टाइट आटा गूंथ लीजिये और आटे को 10 मिनट ढक कर सेट होने के लिये अलग रख दीजिये।

namkeen mathri step 3

अब बारी है तैयार आटे से मठरी बनाने की इसके लिये गूँथे हुए आटे में से छोटी- छोटी लोई बनाइये,

और एक लोई ले कर उसको चित्रानुसार मठरी का आकार दीजिये। आप सुविधानुसार लोई को बेल कर भी मठरी बना सकते हैं।

बेली हुई मठरियों को चाकू की सहायता से गोद लें, इसी तरह सारी मठरियाँ बेल कर और गोद कर तैयार कर लीजिये।

namkeen mathri step 4

तैयार मठरियों को तलने के लिये एक कड़ाई में कुकिंग ऑयल गर्म कीजिये।

गर्म कुकिंग ऑयल या घी में मठरी को अलट-पलट कर सेकिए।

namkeen mathri step 5

जब मठरियाँ गोल्डन ब्राउन रंग की हो जायें तब आपकी जान लीजिये कि खस्ता और कुरकुरी नमकीन मठरी तैयार हैं।

सभी मठरी को इसी तरह तल कर उतार कर स्टोर कर लीजिये।

खस्ता नमकीन मठरी को गरमा-गर्म चाय के साथ सर्व कीजिये और खाइये।

.

उपयोगी सुझाब:

आइये जानते हैं कुछ ऐसे सुझाव जो की खस्ता नमकीन मठरी को तलने, अनेक स्वादों में बनाने और स्टोर करने में निश्चित ही आपका सहयोग करेंगे….

मठरी का आटा गूथने और तलने सम्बन्धी सुझाव :-

मठरी का आटा आपको सख्त ही गूथना है, टाइट गूँथे आटे से ही मठरी खस्ता बनती हैं।

आप ध्यान रखिये आटे में घी या तेल का मोयम मैदा का एक चौथाई ही मिक्स करना है। जैसे अगर हमने एक किलो मैदा ली है तब उसमें 250 ग्राम घी का मोमन मिक्स कर टाइट आटा गूँथिये।

अगर मठरी को आप तेज आँच पर तलेंगे तब यह जल्दी से सुनहरी तो हो जायेंगी पर अंदर से कच्ची ही रहेगी।

मठरी को बेलने के बाद सुखाना जरूरी नहीं है आप मठरी को धीमी आँच पर गोल्डन ब्राउन होने तक तलिये, आपकी मठरी निश्चित ही बहुत फोकी (खस्ता) बनेंगी।

आप मठरी को ओवन में बेक कर सकते हैं बिस्कुट का आनंद देंगी।

अनेक स्वादों में मठरी बनाने सम्बन्धी सुझाव :-

पंजाब में मैथी की मठरी को बहुत पसंद किया जाता है। मैथी मठरी बनाने के लिये मैदा गूँथते समय साफ की हुई ताजा मैथी के पत्तों को बारीक-बारीक काट कर मिक्स करके मठरी बना लीजिये। मैथी की सुगंध मठरी में बहुत अच्छी लगती है आप ताजा मैथी की जगह कसूरी मैथी का भी प्रयोग कर सकते हैं।

सूजी की मठरी बनाने के लिये दो कप मैदा में आधा कप सूजी मिलाकर मठरियां बना लीजिये, यह सूजी वाली मठरी बहुत खस्ता और कुरकुरी होती हैं।

बेसन की मठरी बनाने के लिये दो कप मैदा में आधा कप बेसन मिक्स कर टाइट आटा गूँथ कर मठरी बना कर तल लीजिये इस तरह आप स्वादिष्ट बेसनी मठरी बना लेंगे।

मैदा में थोड़ी सी दरदरी की हुई काली मिर्च मिला कर गूँथे आटे से छोटी- छोटी लोई बना कर बेल कर तल लीजिये, इन मठरियों में मिक्स काली मिर्च क्लासिक स्वाद देगी।

अनेक आकारों में मठरी बेलने सम्बन्धी सुझाव :-

ज्यादा सख्त गूँथे आटे से मठरी बेलते समय अगर किनारे क्रेक हो रहे हों तब आप बेफिक्र हो कर मठरी तलिये आपकी मठरियां खस्ता और अच्छी ही बनेंगी।

तिकोने आकार की मठरी बनाने के लिए लोई को 4-5 इंच गोल आकार में बेलिये, फिर उसे एक बाजू से उठाकर दूसरी बाजु पर रखिये और अर्धगोल बनाईये, इस अर्धगोल को दोबारा से एक बाजू से उठाकर दूसरी बाजू के ऊपर रखे ताकि समोसे जैसा त्रिकोण बन जाये।

तैयार गुथी हुई मैदा से एक बड़ी लोई लेकर उसको पतला-पतला गोल बेल लीजिये, उसको चाकू की सहायता से नमक पारों के आकार में काट कर तल लीजिये इस तरह से आपके स्वादिस्ट नमक पारे तैयार हो जाएंगे।

इसी तरह गुथी हुई मैदा से एक बड़ी लोई लेकर उसको पतला-पतला गोल बेल लीजिये, और उसके ऊपर किसी तेज सिरे वाली गोल कटोरी रख कर मठरी के आकार में काट कर फ्रेश नमकीन मठरियाँ बना लीजिये।

मठरी को स्टोर करने एवं सर्व करने सम्बन्धी सुझाव :-

आप नमकीन मठरियों (Matharia) को एयर-टाइट कंटेनर में स्टोर कर एक महीने तक सुरक्षित रख कर खा सकते हैं।

नमकीन मठरी सुबह या शाम की चाय के समय का पसंदीदा सूखा नाश्ता है।

मैदा, आटा या सूजी से बनी नमकीन मठरी को आम, मिर्च या नींबू के सूखे अचार के साथ सर्व कीजिए इस कॉम्बो को सभी पसंद करेंगे।

मठरी सफर में घर का बना शुद्ध नाश्ता होती है अगर दो-तीन मठरी अचार के साथ खा ली जायें तब एक बार को तो भोजन की चिंता भी नहीं रहती।

कुछ अन्य स्वादिष्ट नाश्तों (स्नैक्स) की सचित्र रेसीपीज :-

Recipe Summary:

Share Recipe!
 

One Response

  1. Om Babu Bansal

    maine aapki resipi dek kar mathri banai sach men acchi bni thanks

    (5/5)
    Reply

Leave a Reply

Rate Racepe!*