मालपुआ बनाने की विधि – Malpua Recipe

reena gupta By Reena Gupta, On

मालपुआ मिठाई को आप रस से भरा पेन केक समझिए, बहुत कम सामग्री से बनी यह स्वादिष्ट मिठाई घर पर बनाने के लिए इस मालपुआ रेसिपी के चित्रों के साथ दिए स्टेप्स को फॉलो कीजिए आप भी निश्चित ही शुद्धता के साथ इसको आसानी से घर पर बना लेंगे।

मालपूआ को पारंपरिक रूप से दूध का खोया (मावा) बना कर उसमें गेहूँ के बारीक आटे (मैदा) को मिला कर बनाया जाता है जिसमें बहुत समय और मेहनत लगती है। इस मालपुआ बनाने की विधि में हमने मिल्क पाउडर के साथ इस टेस्टी राजस्थानी मिठाई को बहुत कम समय में बनाने का तरीका चित्रों के साथ साझा किया है।

मालपुआ मिठाई सारे भारत के साथ-साथ बांग्लादेश में भी बहुत लोकप्रिय है। जहां ओडिशा के भगवान जगन्नाथ के मंदिर में इसका भोग लगाया जाता है वहीं बंग्लादेश के मुस्लिम परिवारों में रमजान के पवित्र माह में इस लोकप्रिय व्यंजन को बहुत पसंद किया जाता है। बंगाल में पोश संक्रांति के समय भी यह मिठाई जरूर तैयार की जाती है।

आइये जानते हैं मालपूआ बनाने की आवश्यक सामग्री, इंसटेंट मालपुआ बनाने का तरीका, स्वाद में बदलाव और सर्व करने सम्बन्धी उपयोगी सुझावों को….

maalpua Recipe

मालपुआ बनाने की सामग्री:

  • मैदा (Fine Wheat Flour) – 1/2 कप
  • मिल्क पाउडर (Milk Powder) – 1/2 कप
  • दूध (Milk) – 1 कप
  • चीनी (Sugar) – 1 कप (चासनी के लिए)
  • पानी (Water) – 1 कप
  • मेवा, बारीक कटी हुई (Chopped Dry Fruits ) – 1/2 कप
  • इलायची पाउडर(Cardamom) – 1/2 चम्मच
  • शुद्ध घी / देसी घी (Desi Ghee) – आवश्यकतानुसार (तलने के लिए)

मालपुआ बनाने की विधि

 maalpua Recipe Step 1

01:-मालपुए बनाने के लिए सबसे पहले एक बड़ी बाउल में मैंदा और मिल्क पाउडर डाल कर अच्छी तरह मिक्स कर लीजिये।

 maalpua Recipe Step 2

02:- इस मिश्रण में थोड़ा- थोड़ा दूध डालते हुए स्मूथी पेस्ट तैयार कर लीजिये। (ध्यान रहे मिश्रण में गुठलियाँ न पड़ें।)

 maalpua Recipe Step 3

03:- तैयार चिकने घोल को चम्मच की सहायता से उठा कर चेक करें की घोल को एक ही धार में नीचे गिरना चाहिये।

 maalpua Recipe Step 4

04:- अब मिश्रण (बेटर) बाले बाउल को ढक कर 20 मिनट के लिए अलग रख दीजिये जिससे मिश्रण अच्छे से फूल जाये।

 maalpua Recipe Step 5

05:- अब मालपुए के लिए चासनी तैयार करें। इसके लिए गैस ऑन करें, एक पेन लें, उसमे पानी और चीनी डालें,गैस को मध्यम रखें। दस मिनट तक चासनी को पकने दें। अब इलाइची पाउडर इसमें डाल दें और लगातार चलाते रहें। चासनी के गाढ़ा होते ही पेन को गैस से उतार दें।

 maalpua Recipe Step 6

06:- अब गैस पर आप दूसरा पेन रखें, उसमे घी डालें। घी के गरम होते ही गैस को धीमा कर दें।

 maalpua Recipe Step 7

07:- अब मालपुए बाला मिश्रण को चम्मच की सहायता से गर्म घी में गिराइये और मालपुए को दोनों तरफ से गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिये।

 maalpua Recipe Step 8

08:- तले हुए मालपुओं को दो करछली के बीच में रख कर दबाइए (जिससे उनका एक्स्ट्रा घी निकल जाये) और प्लेट में निकाल लीजिये।

 maalpua Recipe Step 9

09:- गर्म चासनी में तले हुए मालपुओं को पाँच मिनट तक डुबाये रखिये।

 maalpua Recipe Step 10

10:- अब चित्रानुसार सभी मालपूओं को चासनी से निकाल कर प्लेट में रखें।

 maalpua Recipe Step 11

11:- आपके मिठास से भरे मिल्क पाउडर से बने मालपुए तैयार हैं। स्वादिष्ट मालपुओं को कटी हुई मेवा से गार्निश कर रवड़ी या खीर के साथ सर्व कीजिए और स्वयं भी खाइये।

.

उपयोगी सुझाब:

आइये जानते हैं कुछ ऐसे सुझाव जो कि स्वादिष्ट मालपूए बनाने और सर्व करने में निश्चित ही आपको उपयोगी लगेंगे….

स्वाद में बदलाव एवं बनाने सम्बन्धी सुझाव :-

मालपुआ के बेटर को पतला और चला-चला कर चिकना बनाइये, ध्यान रखिये कि बेटर में गुठलियाँ न हों।

बेटर बनाने के बाद इसको फूलने और सैट होने के लिये 20 मिनट अलग जरूर रखिये, तय समय के बाद मालपूआ बनाने से पहले बेटर को एक बार फैंट लीजिए इससे बेटर एक दम चिकना हो जायेगा।

मालपुआ की चाशनी बनाने के लिये चीनी और पानी बराबर मात्रा में मिला कर गर्म कीजिए और इसको केवल 2-3 मिनट चीनी घुलने तक पकाइए।

मालपूए को हमें धीमी आँच पर ही तलना है जिससे मालपूआ अंदर तक सिक कर थोड़ा कुरकुरा बनेगा।

स्वाद में बदलाव के लिये आप चाशनी में इलाईची पाउडर की जगह केसर या गुलाव जल मिला सकते हैं।

आप मैंदे की जगह अपनी सुविधानुसार आटा या सूजी का प्रयोग भी कर सकते हैं।

स्टोर करने एवं सर्व करने सम्बन्धी सुझाव :-

मालपूए को फ्रिज में स्टोर कर सात-आठ दिनों तक खाया जा सकता है।

वैसे तो मालपुआ एक तरह से सुबह की डिश है जिसको सुबह के नाश्ते में बंगाल, बिहार और ओडिशा में बहुत पसंद किया जाता है।

मालपुआ को डिनर के बाद डेसर्ट के रूप में रबड़ी और सूखे मेवों से गार्निश कर सर्व कीजिए सच मानिये परिवार में सभी इसको बहुत पसंद करेंगे।

मालपुआ का इतिहास:-

ऐसा माना जाता है कि मालपुआ वैदिक काल में आर्यों द्वारा खाया जाने वाला सबसे प्रचलित मिष्ठान था। यह एक पारंपरिक मीठा केक था जिसे अप्प्पा भी कहा जाता था। इसमें अनाज के आटे को अमृत रूपी दूध के साथ मिला कर शुद्ध घी में पागा जाता था फिर पानी में बुदबुदाया जाता था, और बाद में मीठे अमृत में डुबोया जाता था।

बांग्लादेश में मालपुआ केले या नारियल के आटे और पानी या दूध में मिलाकर बनाया जाता है। इसको वहाँ पर गर्म-गर्म परोसा जाता है।

कुछ अन्य पारंपरिक मिठाई की सचित्र रेसीपीज :-

Recipe Summary:

Share Recipe!
 

One Response

  1. Avatar सुप्रिया पाठक, कानपुर यूपी

    गजब, लाजबाब अच्छा प्रयास है मेम

    (5/5)
    Reply

Leave a Reply

Rate Racepe!*