काजू कतली – Kaju Katli Recipe

, , 1 Comment

लोकप्रिय पारंपरिक मिठाई काजू की बर्फ़ी / कतली जितमी खाने में स्वादिष्ट होती है, देखने में उतनी ही सुन्दर और बनाने में बहुत ही आसान। एक बार आप भी ट्राय कर लीजिये।

सम्पूर्ण भारत में प्रसिद्ध काजू की कतली को उत्तर भारत में काजू की बर्फ़ी गुजरात में काजूनी कतरी और मराठी में काजू काप बोला जाता है। ज्यादातर दिवाली जैसे बड़े त्यौहार और विवाह जैसे बड़े अवसरों पर इसको जरूर बनाया जाता है।

न ज्यादा सामग्री न ज्यादा मेहनत, कुछ ही देर में बहुत आसानी से भारत की प्रसिद्ध पारंपरिक मिठाई काजू की कतली / बर्फ़ी को आप भी घर पर ही बना लेंगे बस रेसपी में दिये ईजी स्टेप्स को फॉलो कीजिये..  kaju ki katli

काजू कतली/बर्फ़ी बनाने की सामग्री:-

  • काजू – 2 कप
  • चीनी – 1 कप या स्वादानुसार
  • दूध पाउडर – 4 चम्मच
  • सफ़ेद इलाइची (पाउडर) – 1 चम्मच
  • चांदी के बरक – गार्निश के लिये

काजू कतली/बर्फ़ी बनाने की विधी:-

 kaju katli step 1

सबसे पहले साफ कपड़े में दो कप काजू भर कर उसकी पोटली बनाइये और हाथों की सहायता से उसको मसल लीजिये, ऐसा करने से काजू एकदम साफ हो जाएंगे।

 kaju katli step 2

साफ किये हुए काजू को मिक्सी के जार में भर कर उनका फ़ाइन पाउडर तैयार कीजिये, काजू पाउडर को छलनी की सहायता से छान लें छलनी में बचे काजू के टुकड़ों को दोबारा पीस लीजिये।

 kaju katli step 3

काजू के तैयार छने हुए पाउडर में दूध पाउडर मिक्स कर लीजिये।

 kaju katli step 4

एक भारी तले की कढ़ाई में चीनी और पानी डाल कर कर दो तार की चाशनी तैयार कर लीजिये।

 kaju katli step 5

तैयार चाशनी में धीरे-धीरे काजू का पाउडर डालते हुए लगभग 10 मिनट तक लगातार चलाते रहिये, तय समय बाद आप देखेंगे कि मिश्रण गाढ़ा होते हुए कढ़ाई को छोड़ने लगा है तब इसमें इलाईची पाउडर मिला लीजिये।

 kaju katli step 6

रेडी गाढ़े काजू के मिश्रण को एक बर्तन में पलट कर थोड़ा ठंडा होने दें, फिर हाथों को चिकना करते हुए काजू के मिश्रण को आटे की तरह मल कर डो तैयार कर लीजिये।

 kaju katli step 7

एक बटर पेपर और बेलन को घी लगाकर चिकना करें, पेपर पर डो को रख कर बेलन की सहायता से पराठे की तरह मनपसंद मोटाई में बेल लीजिये।

 kaju katli step 8

बिले हुए काजू के डो के ऊपर चांदी का बर्क लगा कर गार्निश कीजिये, और चाकू की सहायता से अपने पसंदनुसार आकार में काजू की टेस्टी कतली/बर्फ़ी को काट कर सर्व कीजिये।

काजू की बर्फ़ी/कतली को आप व्रत उपवास में भी खा सकते हैं, कुछ जगह चांदी का बर्क सात्विक नही माना जाता इस लिये उपवास के लिये बनी कतली में बर्क न लगाएं।

.

उपयोगी सुझाब:

अगर काजू फ्रिज में रखे है तब पीसने से पहले उनका तापमान सामान्य कर लें, ज्यादा ठंडे काजू पिस नहीं पाएंगे।

चाशनी दो तार की ही बनाएं, एक तार की चाशनी से काजू कतली/बर्फ़ी ठीक से जम नही पाएगी और ज्यादा गाढ़ी चाशनी से कतली सख्त हो जाएगी।

अगर काजू का मिश्रण ज्यादा गाढ़ा हो गया है तब थोड़ा दूध मिला कर डो ठीक कर लीजिये, ध्यान रखें दूध मिली काजू की कतली की सेल्फ लाइफ थोड़ी कम हो जाती है इस लिये इसको 3-4 दिनों में खा लीजिये।

मिल्क पाउडर से बनी काजू की कतली / बर्फ़ी को फ्रिज में रख कर 10-12 दिनों तक खाया जा सकता है।

Recipe Summary:

 

One Response

  1. Ravinder Vaish

    very nice and meaningful recipe. i just impress

    (5/5)
    Reply

Leave a Reply

Rate Racepe!*