Meethi Mathri – मीठी मठरी बनाने की विधि – Meethi Mathri Recipe

reena gupta By Reena Gupta, On

Meethi Mathri भारत में बहुत लोकप्रिय एक ऐसा सूखा नाश्ता है जो घर पर बन भी आसानी से जाता है और इसको लंबे समय तक स्टोर भी कर सकते हैं। त्यौहार या किसी खुशी के अवसर पर बनाई जाने वाली मीठी मठरी बनाने की विधि को चित्रों और स्टेप्स सहित आपके साथ साझा कर रहे हैं।

मीठी मठरी बनाने के लिये मुख्य सामग्री मैदा, चीनी और तलने के लिये रिफाइंड ऑइल ही है पर आप अपनी क्रियेटिविटी से इसके स्वाद को बहुत क्लासिक बना सकती हैं जैसे आप अपने स्वादानुसार तिल, सौंफ, सूजी या जायफल का पाउडर मिक्स कर इनको अनेक स्वादों में बना सकती हैं। हमने स्वाद में बदलाव के कुछ सुझाव रेसिपी में बतलाये हैं।

इस meethi mathri banane ki vidhi recipe में हमने सूजी, मैदा, सफेद तिल और चीनी के साथ स्वादिष्ट मीठी मठरी बनाने का तरीका शेयर किया है। कम मीठे में बनी यह मठरियाँ बच्चों की खास पसंद होती हैं क्यूंकी इनका स्वाद उनको बिस्कुट से भी अच्छा लगता है और घर पर बनी होने के कारण इनकी शुद्धता निसंदेह होती है।

आइये जानते हैं meethi mathri kaise banaen इसकी आवश्यक सामग्री, स्टोर करने और सर्व करने सम्बन्धी उपयोगी सुझावों को…..

 Meethi Mathri Til wali

मीठी मठरी बनाने की सामग्री :-

  • मैदा (Fine Wheat Flour) – 2 कप
  • सूजी / रवा (Semolina) – 1/2 कप
  • चीनी पाउडर/बूरा/ तगार (Fine Sugar) – 6 चम्मच
  • शुद्ध घी / देसी घी (Desi Ghee) – 4 चम्मच (मोमन के लिए)
  • सफेद तिल (Sesame Seed) – 4 चम्मच
  • पानी (Water) – आटा गूंथने के लिए
  • रिफाइंड ऑइल (Cooking Oil ) – तलने के लिए

मीठी मठरी बनाने की विधि :-

Sweet Til Mathri step 1

सूजी की मठरी बनाने के लिये सबसे पहले आप एक बड़े बर्तन में मैदा और सूजी को छान लीजिये।

छानी हुई मैदा सूजी में पिसी चीनी (पाउडर) और शुद्ध घी मिक्स कर दीजिये।

Sweet Til Mathri step 2

इस मिक्स्चर में तिल डालिए और इसको थोड़ा-थोड़ा पानी मिलाते हुए आटे की तरह गूंथ लीजिये।

गूँथे हुए मिक्स्चर को सेट होने के लिए 15-20 मिनट ढक कर अलग रख दीजिये।

Sweet Til Mathri step 3

सेट हो चुके आटे को हाथ से दोबारा मल लीजिये जिससे आटा मुलायम हो जाएगा।

आटे की लोई बना कर चकला बेलन की सहायता से चित्रानुसार थोड़ा मोटा बेल कर एक फोर्क (कांटे) की मदद से उसको गोद लीजिये।

Sweet Til Mathri step 4

गोदी हुई मोटी रोटी को मठरी के आकार में किसी भी स्टील की गोल चीज जैसे “कटोरी” या “बाउल” से काट लीजिये।

Sweet Til Mathri step 5

आप अपनी पसंदनुसार इसको चित्रानुसार मीठे पारे के आकार में भी काट सकते हैं।

Sweet Til Mathri step 6

एक कढ़ाई में कुकिंग ऑइल गर्म करके मीठी मठरी या मीठे पारों को धीमी आंच पर अलट-पलट कर सुनहरा होने तक तल लीजिये।

फ्राई होते ही आपकी स्वादिष्ट तिल वाली मीठी मठरियां तैयार हैं।

इनको ठंडा होने के बाद एयर टाइट डिब्बे में स्टोर करके रख लीजिये, जब भी इच्छा हो खिलाइये और खाइये।

.

उपयोगी सुझाब:

आइये जानते हैं कुछ ऐसे सुझाव जो की अनेक स्वादों में स्वादिष्ट मीठी मठरी बनाने और स्टोर करने में निश्चित ही आपको उपयोगी लगेंगे….

मीठी मठरी बनाने के लिये आटा कैसा गूंथना चाहिये :-

सूजी मैदा के साथ अन्य सामग्री मिला कर थोड़ा सख्त आटा गूथिये, गूँथे हुए आटे को 15-20 मिनट ढक कर सेट होने जरूर रखिये। तय समय बाद सेट हो चुके आटे में थोड़ा सा घी डालिये और इसको दोबारा से गूथते हुए मुलायम कर लीजिये, इस आटे से बहुत ही फोकी मठरी तैयार होंगी।

मीठी मठरी को किस तरह से तलना चाहिये :-

मठरी तलने के लिए कढ़ाई में घी या तेल हल्का गर्म होना चाहिए इस लिये पहले गैस को धीमी ही रखिये, इस कढ़ाई में फ्राई करने के लिये मठरी डाल दीजिए, जब मठरी घी के ऊपर तल कर आने लगें तब घी को तेज गर्म कीजिये इसके लिये गैस थोड़ी से तेज कर दीजिये और मठरी को अलट-पलट कर गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिए। इस तरह से निश्चित ही स्वादिष्ट मीठी मठरी तैयार होंगी।

अनेक स्वादों में मीठी मठरी बनाने के सुझाव :-

गुड़ वाली मीठी मठरी बनाने के लिये आप दो कप आटा या मैदा लीजिये और उसमें (आधा कप गुड़ + आधा कप पानी की चाशनी) के साथ, चौथाई कप घी और तिल मिक्स कर सख्त आटा गूँथ लीजिये। फिर इसी तरह से मठरी बना कर खस्ता होने तक तल लीजिये, टेस्टी मीठी गुड़ की मठरी तैयार हो जायेंगी।

पाग कर बनाई गई मीठी मठरी के लिये पहले फीका आटा गूथिये फिर उसकी मठरी बना कर उनको धीमी आग पर अच्छी ब्राउन होने तक तल लीजिये और बाद में इनको चीनी की 2 तार की चाशनी में डुबाकर निकाल लीजिये। (ध्यान रखें चाशनी में डुबाकर मठरी को तुरन्त ही निकाल लें) इस तरह से मठरी के ऊपर चीनी चाशनी की एक परत आ जाती है जिससे वह मीठी लगती है। पागी हुई मीठी मठरी भी बहुत अच्छी लगती हैं।

मिल्क मठरी बनाने के लिए छानी हुई मैदा में चीनी, घी और सफेद तिल मिला कर दूध की सहायता से हल्का सख्त आटा गूथ लीजिये। (दो कप मैदा गूथने में लगभग आधा कप दूध का उपयोग होता है।) गुथे हुये आटे को 20 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये और आटे के सैट होने के बाद मठरी तैयार कर फ्राई करके स्टोर कर लीजिये। मिल्क मठरी बच्चों को बहुत पसंद आती हैं।

गुजराती मीठी मठरी बनाने के लिये मैदा गूथते समय सभी सामग्री के साथ इसमें बहुत थोड़ा नमक डाला जाता है। जिससे इनका स्वाद बहुत क्लासिक हो जाता है बाकी मठरी बनाना और तलना इसी तरह से किया जाता है।

विवाह शगुन के मठ्ठे बनाने के लिये अगर मीठी मठरी को थोड़ा बड़ा बेल दिया जाय तो मठ्ठे कहलाते है। इनको डीप फ्राई करने के बाद चीनी की दो तार की चाशनी में पागा जाता है। यह बड़े आकार के स्वादिष्ट मट्ठे शादियों में शगुन के रुप में डलिया भर कर दुल्हन के साथ रखे जाते है जो दूल्हे के घर में सबको बांटे जाते हैं।

मीठी मठरी को बेक करने के लिये पहले सेट हो चुके गुथे आटे से मठरी बनाइये और उनको किसी कांटे की सहायता से गोद लीजिये, फिर एक माइक्रोवेव सेफ ट्रे को चिकना करके उस पर मठरियों को रखिये और कान्वेंसन मोड में 10 मिनट बेक कीजिये फिर मठरियों को पलट कर दोबारा से ब्राउन होने तक बेक कर लीजिये। कम ऑइल की होने के कारण यह मीठी मठरी सेहत के लिये उपयुक्त होती हैं।

मीठी मठरी को स्टोर करने एवं सर्व करने सम्बन्धी सुझाव :-

आप अपनी सुबिधानुसार मीठी मठरी को त्यौहार से पहले ही बना कर रख सकती हैं क्यूँकी एयर-टाइट डिब्बे में स्टोर होने के बाद यह 15-20 दिनों तक बिल्कुल ठीक रहती हैं।

सुबह के ब्रेकफास्ट में चाय के साथ मीठी मठरी को सर्व कीजिये यह ऐसा टेस्टी स्नेक है जिसको खाने के बाद पेट भर सा जाता है और जल्दी से भूख नहीं लगती।

जब भी हल्की भूख सताये आप मीठी मठरी खाइये यह सूखी होने के कारण सफर और टिफिन के लिये भी परफेक्ट स्नेक है।

कुछ अन्य स्वादिष्ट घर पर बनाये जाने वाले नाश्ते की सचित्र रेसीपीज :-

Recipe Summary:

Share Recipe!
 

One Response

  1. रूपम गुप्ता

    बहुत ही उपयोगी और आसान विधि के साथ आपने बताई है

    (5/5)
    Reply

Leave a Reply

Rate Racepe!*